Thursday, March 30, 2023
होमचुनावयूपी की खातिर, भाजपा का विशेष प्लान

यूपी की खातिर, भाजपा का विशेष प्लान

उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी है. चुनाव आयोग द्वारा रैली और सभाओं पर रोक बढ़ाए जाने के बाद, भाजपा डोर टू डोर कैंपेन पर फोकस कर रही है. इसकी कमान खुद भाजपा के वरिष्ठ नेता और गृह मंत्री अमित शाह ने सभांल रखी है. इस सिलसिले में अमित शाह ने अपने अभियान की शुरुआत पश्चिम यूपी के कैराना से की. भाजपा इस क्षेत्र में एक खास मिशन पर काम कर रही है. सुरक्षा और सुशासन के नाम पर भाजपा इस इलाके में वोटों के ध्रुवीकरण में लग गयी है. इसके साथ ही भाजपा वोटरों तक सीधे पुहँच पाने के लिये घर घर पहुँचने का भी प्लान बना रही है.
 12 करोड़ वोटरों तक पहुँचने का है लक्ष्य
2022 में जीत के लिए बीजेपी एक खास प्‍लान पर अमल कर रही है. इसके तहत पार्टी ने प्रदेश के 12 करोड़ वोटर्स तक पहुँच रही है. इस प्रोग्राम का नाम है- ‘हर घर भाजपा’. बीजेपी डोर टू डोर कैंपेन के तहत ऐसे 4 करोड़ घरों तक पहुंच रही है, जिन्‍हें केंद्र की मोदी सरकार और यूपी की योगी सरकार की योजनाओं का किसी न किसी रूप में फायदा मिला हो. बीजेपी नेता उन्‍हीं 4 करोड़ घरों में जाएंगे, जिनमें कम से कम 3 वोटर अवश्‍य हों. इस तरह बीजेपी को 12 करोड़ वोटर तक सीधे पहुंचने का मौका मिलेगा.
 अमित शाह और सीएम योगी का विशेष अभियान
जहां मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने गाजियाबाद से, तो गृह मंत्री अमित शाह ने कैराना से इस डोर टू डोर प्रोग्राम ‘हर घर भाजपा’ की शुरुआत की है. इस कार्यक्रम की शुरुआत भाजपा ने पश्चिमी यूपी से की है. इसके पीछे दो प्रमुख कारण माने जा रहे हैं.
पहला – फर्स्‍ट फेज़ की वोटिंग पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश से ही होनी है.
दूसरा – किसान आंदोलन के चलते भाजपा की स्थिति पश्चिमी यूपी में कमजोर मानी जा रही है, इस लिये भाजपा पश्चिमी यूपी में ध्रुवीकरण पर पूरा जोर लगा रही है, और यही वजह है कि अमित शाह ने कैराना से अपने कैंपेन की शुरुआत की.
 ‘हर घर भाजपा’ संपर्क अभियान
भाजपा ‘हर घर भाजपा’ कैंपेन को यूपी विधानसभा की सभी 403 सीटों पर चलाएगी. इसके लिए यूपी के भाजपा कार्यकर्ता 1,74,000 बूथों पर जाएंगे और घर-घर प्रचार करेंगे. केंद्र और राज्‍य की भाजपा सरकार की योजनाओं के लाभान्वितों के घरों पर जाने के लिए भाजपा ने पांच-पांच कार्यकर्ताओं की टीमें गठित की हैं. मतलब एक टीम में एक नेता और पांच कार्यकर्ताओं को रखा गया है. ये टीमें कोरोना के इस काल में मास्‍क और सैनिटाइजर का भी वितरण करेंगी.
 भाजपा ने अन्‍य राज्‍यों से बुलाए विशेष प्रचारक, दलित और अति पिछड़ों पर होगा फोकस
भाजपा ने दलित और अति पिछड़ी जातियों पर भी खास तौर से ध्‍यान केंद्रित किया है. पार्टी ने ऐसे इलाकों में फोकस करने के लिए अन्‍य राज्‍यों से भी विशेष प्रचारक बुलाए हैं. ये प्रचारक और कार्यकर्ता विशेष तौर से दलित और अति पिछड़े वोटरों को लुभाने का प्रयास करेंगे.
अखिलेश अखिल
अखिलेश अखिल
पिछले 30 वर्षों से मिशनरी पत्रकारिता करने वाले अखिलेश अखिल की पहचान प्रिंट, टीवी और न्यू मीडिया में एक खास चेहरा के रूप में है। अखिल की पहचान देश के एक बेहतरीन रिपोर्टर के रूप में रही है। इनकी कई रपटों से देश की सियासत में हलचल हुई तो कई नेताओं के ये कोपभाजन भी बने। सामाजिक और आर्थिक, राजनीतिक खबरों पर इनकी बेबाक कलम हमेशा धर्मांध और ठग राजनीति को परेशान करती रही है। अखिल बासी खबरों में रुचि नहीं रखते और सेक्युलर राजनीति के साथ ही मिशनरी पत्रकारिता ही इनका शगल है। कंटेंट इज बॉस के अखिल हमेशा पैरोकार रहे है।
RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments