Thursday, February 29, 2024
होमताज़ातरीनराहुल गाँधी ने कहा, सरकार ने आठ साल में लोकतंत्र को बर्बाद...

राहुल गाँधी ने कहा, सरकार ने आठ साल में लोकतंत्र को बर्बाद कर दिया

 

कांग्रेस आज देश भर में केंद्र सरकार के खिलाफ महंगाई, जीएसटी और केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन कर रही है. लेकिन आज सुबह ही राहुल गाँधी ने पार्टी ऑफिस में मीडिया को सम्बोधित कर कहा कि ‘क्या आप तानाशाही का मजा ले रहे हैं, यहां रोज लोकतंत्र की हत्या हो रही है. इस सरकार ने 8 साल में लोकतंत्र को बर्बाद कर दिया.’ उन्होंने कहा कि आज हिंदुस्तान में लोकतंत्र नहीं है. लोकतंत्र की मौत हो चुकी है. आज चार लोगों की डिक्टेटरशिप है. हम महंगाई और जिस तरह से लोगों को बांटा जा रहा है. उस पर बोलना चाहते हैं. हमें पार्लियामेंट हाउस में बोलने नहीं दिया जाता. जो विरोध करता है. उसे अरेस्ट किया जाता है. ये हिंदुस्तान की हालत है.

राहुल ने कहा कि देश की मीडिया, इलेक्टोरल सिस्टम इनके दम पर विपक्ष खड़ा होता है, लेकिन देश में हर इंस्टीट्यूट में संघ का आदमी बैठा है. वह सरकार के कंट्रोल में है. जब हमारी सरकार होती थी. तब इन्फ्रास्ट्रक्चर न्यूट्रल होता था. हम उसमें दखल नहीं देते थे. आज यह सरकार के साथ है. कोई विरोध करता है तो उसके खिलाफ केंद्रीय जांच एजेंसियां लगा दी जाती हैं.’

उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की जो मौत हुई, उससे आपको कैसा लग रहा है? जिस लोकतंत्र को 70 सालों में बनाया गया, उसे आठ साल में खत्म कर दिया गया. उन्होंने कहा कि दिक्कत ये है कि मैं सच्चाई बोलूंगा, महंगाई, बेरोजगारी का मुद्दा उठाने का काम करूंगा. जो डरता है, वो धमकाता है. जो आज देश की हालत है उससे डरते हैं, जो उन्होंने पूरे नहीं किए, महंगाई और बेरोजगारी से डरते हैं. जनता की शक्ति से डरते हैं, क्योंकि ये 24 घंटा झूठ बोलते हैं.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राहुल जी ने जो कहा आप समझ लें कि देश में क्या हालात हैं. किसी ने नहीं सोचा होगा कि देश में लोगों को लोकतंत्र समाप्त होते देखना होगा. देश में महंगाई बढ़ रही है, संविधान को खत्म किया जा रहा है, लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है. देश में ईडी, इनकम टैक्स, सीबीआई का आतंक है.

उन्होंने कहा कि देश में खतरनाक खेल हो रहा है. अब समय आ गया है कि जनता को आगे आना होगा. एक्टिविस्ट्स को भी सरकार के खिलाफ खड़े होना होगा. महंगाई का हाहाकार मचा है, जीएसटी के हर दिन नए कारनामे हो रहे हैं. ऐसे में मीडिया को भी आगे आना होगा.

बता दें कि दिल्ली में पार्टी के सभी सांसद विजय चौक होते हुए राष्ट्रपति भवन तक मार्च करेंगे. वहीं पार्टी के नेता और कार्यकर्ता कांग्रेस मुख्यालय से पीएम हाउस तक जाएंगे. यहां वो पीएम हाउस का घेराव करेंगे.

Anzarul Bari
Anzarul Bari
पिछले 23 सालों से डेडीकेटेड पत्रकार अंज़रुल बारी की पहचान प्रिंट, टीवी और डिजिटल मीडिया में एक खास चेहरे के तौर पर रही है. अंज़रुल बारी को देश के एक बेहतरीन और सुलझे एंकर, प्रोड्यूसर और रिपोर्टर के तौर पर जाना जाता है. इन्हें लंबे समय तक संसदीय कार्रवाइयों की रिपोर्टिंग का लंबा अनुभव है. कई भाषाओं के माहिर अंज़रुल बारी टीवी पत्रकारिता से पहले ऑल इंडिया रेडियो, अलग अलग अखबारों और मैग्ज़ीन से जुड़े रहे हैं. इन्हें अपने 23 साला पत्रकारिता के दौर में विदेशी न्यूज़ एजेंसियों के लिए भी काम करने का अच्छा अनुभव है. देश के पहले प्राइवेट न्यूज़ चैनल जैन टीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर शो 'मुसलमान कल आज और कल' को इन्होंने बुलंदियों तक पहुंचाया, टीवी पत्रकारिता के दौर में इन्होंने देश की डिप्राइव्ड समाज को आगे लाने के लिए 'किसान की आवाज़', वॉइस ऑफ क्रिश्चियनिटी' और 'दलित आवाज़', जैसे चर्चित शोज़ को प्रोड्यूस कराया है. ईटीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर राजनीतिक शो 'सेंट्रल हॉल' के भी प्रोड्यूस रह चुके अंज़रुल बारी की कई स्टोरीज़ ने अपनी अलग छाप छोड़ी है. राजनीतिक हल्के में अच्छी पकड़ रखने वाले अंज़र सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक और अंतरराष्ट्रीय खबरों पर अच्छी पकड़ रखते हैं साथ ही अपने बेबाक कलम और जबान से सदा बहस का मौज़ू रहे है. डी.डी उर्दू चैनल के शुरू होने के बाद फिल्मी हस्तियों के इंटरव्यूज़ पर आधारित स्पेशल शो 'फिल्म की ज़बान उर्दू की तरह' से उन्होंने खूब नाम कमाया. सामाजिक हल्के में अपनी एक अलग पहचान रखने वाले अंज़रुल बारी 'इंडो मिडिल ईस्ट कल्चरल फ़ोरम' नामी मशहूर संस्था के संस्थापक महासचिव भी हैं.
RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments