Home ताज़ातरीन दिल्ली में भारत जोड़ो यात्रा की इंट्री, शाम चार बजे लाल किला पर यात्रा की होगी दस्तक

दिल्ली में भारत जोड़ो यात्रा की इंट्री, शाम चार बजे लाल किला पर यात्रा की होगी दस्तक

0
दिल्ली में भारत जोड़ो यात्रा की इंट्री, शाम चार बजे लाल किला पर यात्रा की होगी दस्तक

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा 108 दिनों में कन्याकुमारी से चलकर आज दिल्ली पहुँच गई है. अब तक यात्रा ने तीन हजार किलोमीटर की दुरी तय कर ली है. शाम चार बजे यात्रा का अंतिम पड़ाव लाल किला है. यह यात्रा 2 जनवरी तक दिल्ली में रुकेगी और फिर तीन जनवरी से यात्रा जम्मू के लिए प्रस्थान करेगी. दिल्ली कांग्रेस विंग के मुताबिक, यात्रा एक दिन में 23 किमी का सफर तय करेगी. शाम साढ़े चार बजे लाल किले पर समाप्त होगी. रिपोर्ट्स के मुताबिक, साउथ के एक्टर कमल हासन भी दिल्ली में भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हो सकते हैं. वो लाल किला पहुंचने से पहले दोपहर 3 बजे यात्रा जॉइन करेंगे.

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा के चलते शनिवार को बदरपुर बॉर्डर से लाल किले तक हैवी ट्रैफिक रहने की संभावना जताई है. पुलिस ने लोगों से कहा है कि यात्रा रूट से हटकर जाने वाली सड़क या बाईपास का इस्तेमाल करें. साथ ही अपने वाहन की जगह पब्लिक ट्रांसपोर्ट से आएं जाएं.

यात्रा के कारण बदरपुर फ्लाईओवर, प्रह्लादपुर रेड लाइट, महरौली बदरपुर रोड, अपोलो फ्लाईओवर, मथुरा रोड सीआरआरआई रेड लाइट, मथुरा रोड, मोदी मिल फ्लाई ओवर, आश्रम चौक, एंड्रयूजगज, कैप्टन गौर मार्ग, लाजपत नगर फ्लाईओवर के नीचे, निजामुद्दीन फ्लाईओवर, प्रगति मैदान सुरंग, आईपी फ्लाईओवर की ओर, सुब्रमण्यम भारती मार्ग/जाकिर हुसैन मार्ग क्रॉसिंग, मथुरा रोड/ शेरशाह रोड टी-प्वाइंट, Q-प्वाइट, R/A जसवंत सिंह, मंडी हाउस, विकास मार्ग (यमुना पुल/लक्ष्मी नगर शकरपुर साइड), मिंटो रोड रेड लाइट, गुरु नानक चौक, राजघाट चौक इलाकों में ट्रैफिक डायवर्ट किया जाएगा.

बहुजन समाजवादी पार्टी के सांसद श्याम सिंह यादव भी दिल्ली में भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होंगे. एएनआई के मुताबक इसके लिए उन्हें राहुल गांधी ने चिट्‌ठी लिखकर आमंत्रण भेजा था.

यात्रा की शुरुआत 3 जनवरी से उत्तर प्रदेश से दोबारा शुरू होगी. इस दौरान यात्रा तीन जिलों को कवर करेगी. गाजियाबाद के लोनी बॉर्डर से भारत जोड़ो यात्रा एंट्री उत्तर प्रदेश में होगी. इसके बाद 4 जनवरी को बागपत, 5 जनवरी को शामली और 6 जनवरी को कैराना से होकर दूसरे चरण में हरियाणा के सोनीपत में एंट्री करेगी. इसके बाद पंजाब और जम्मू-कश्मीर के लिए रवाना होगी.

बता दें कि 7 सितंबर को कन्याकुमारी से शुरू हुई यात्रा ने अब तक 9 राज्यों का सफर तय कर लिया है. इनमें तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, राजस्थान और हरियाणा शामिल हैं. हालांकि, हरियाणा में यात्रा का दूसरा फेज बाकी है.

Previous article आईसीआईसीआई बैंक फ्रॉड मामले में अपने पति के साथ चंदा कोचर गिरफ्तार 
Next article सत्ता पक्ष और विपक्ष की सहमति से संसद सत्र एक सप्ताह पहले ही समाप्त
पिछले 23 सालों से डेडीकेटेड पत्रकार अंज़रुल बारी की पहचान प्रिंट, टीवी और डिजिटल मीडिया में एक खास चेहरे के तौर पर रही है. अंज़रुल बारी को देश के एक बेहतरीन और सुलझे एंकर, प्रोड्यूसर और रिपोर्टर के तौर पर जाना जाता है. इन्हें लंबे समय तक संसदीय कार्रवाइयों की रिपोर्टिंग का लंबा अनुभव है. कई भाषाओं के माहिर अंज़रुल बारी टीवी पत्रकारिता से पहले ऑल इंडिया रेडियो, अलग अलग अखबारों और मैग्ज़ीन से जुड़े रहे हैं. इन्हें अपने 23 साला पत्रकारिता के दौर में विदेशी न्यूज़ एजेंसियों के लिए भी काम करने का अच्छा अनुभव है. देश के पहले प्राइवेट न्यूज़ चैनल जैन टीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर शो 'मुसलमान कल आज और कल' को इन्होंने बुलंदियों तक पहुंचाया, टीवी पत्रकारिता के दौर में इन्होंने देश की डिप्राइव्ड समाज को आगे लाने के लिए 'किसान की आवाज़', वॉइस ऑफ क्रिश्चियनिटी' और 'दलित आवाज़', जैसे चर्चित शोज़ को प्रोड्यूस कराया है. ईटीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर राजनीतिक शो 'सेंट्रल हॉल' के भी प्रोड्यूस रह चुके अंज़रुल बारी की कई स्टोरीज़ ने अपनी अलग छाप छोड़ी है. राजनीतिक हल्के में अच्छी पकड़ रखने वाले अंज़र सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक और अंतरराष्ट्रीय खबरों पर अच्छी पकड़ रखते हैं साथ ही अपने बेबाक कलम और जबान से सदा बहस का मौज़ू रहे है. डी.डी उर्दू चैनल के शुरू होने के बाद फिल्मी हस्तियों के इंटरव्यूज़ पर आधारित स्पेशल शो 'फिल्म की ज़बान उर्दू की तरह' से उन्होंने खूब नाम कमाया. सामाजिक हल्के में अपनी एक अलग पहचान रखने वाले अंज़रुल बारी 'इंडो मिडिल ईस्ट कल्चरल फ़ोरम' नामी मशहूर संस्था के संस्थापक महासचिव भी हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here