Home खेल एशिया कप के लिए भारतीय टीम नहीं जाएगी पाकिस्तान, पीसीबी ने विश्व कप से हटने की दी भारत को धमकी

एशिया कप के लिए भारतीय टीम नहीं जाएगी पाकिस्तान, पीसीबी ने विश्व कप से हटने की दी भारत को धमकी

0
एशिया कप के लिए भारतीय टीम नहीं जाएगी पाकिस्तान, पीसीबी ने विश्व कप से हटने की दी भारत को धमकी

भारत पाकिस्तान क्रिकेट फैंस के लिए एक बुरी खबर है. भारतीय क्रिकेट बोर्ड यानी बीसीसीआई ने एक बार फिर एशिया कप के लिए अपनी टीम पाकिस्तान भेजने से मना कर दिया है. रिपोर्ट के मुताबिक, बीसीसीआई ने इस बात की पुष्टि भी कर दी है. बीसीसीआई की जानिब से एक बार फिर साफ किया गया है कि भारतीय क्रिकेट टीम एशिया कप खेलने के लिए पाकिस्तान का दौरा नहीं करेगी.

बोर्ड के सचिव और एशियन क्रिकेट काउंसिल (एसीसी) के अध्यक्ष जय शाह ने पीसीबी अध्यक्ष नजम सेठी को इस संबंध में सूचित कर दिया है. जय शाह ने बहरीन में एसीसी की बैठक में भारत की स्थिति को दोहराया है. उन्होंने कहा कि भारत सरकार पाकिस्तान में एशिया कप खेलने की टीम को अनुमति नहीं देगी. भारत ने अन्य बोर्डों से स्थिति पर विचार करने को कहा है, जिसके लिए सभी सदस्य एक महीने तक इंतजार करने को तैयार हो गए हैं.

उधर जयशाह के दो-टूक इंकार के बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड यानी पीसीबी की प्रबंधन समिति के अध्यक्ष नजम सेठी ने भारत को खुले शब्दों में धमकी दी है. सूत्रों के मुताबिक नजम सेठी ने जय शाह से मुलाकात के दौरान कहा है कि अगर भारत पाकिस्तान नहीं आता है तो विश्व कप के लिए पाकिस्तान की टीम भी भारत नहीं जाएगी.

हालांकि बीसीसीआई का यह भी कहना है कि भारत को पाकिस्तान द्वारा एशिया कप की मेजबानी करने पर उसे कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन भारत चाहता है कि टूर्नामेंट पाकिस्तान की मेजबानी में ही किसी न्यूट्रल देश जैसे संयुक्त अरब अमीरात में खेला जाए और एशिया कप के मैच दुबई, शारजाह और अबू धाबी में खेले जाएं.

याद रहे कि शनिवार को बहरीन में हुई एशियन क्रिकेट काउंसिल की बैठक में इस साल पाकिस्तान की मेजबानी में होने वाले एशिया कप के कार्यक्रम पर अंतिम फैसला नहीं हो सका. मार्च में होने वाली अगली बैठक में दोबारा एशिया और विश्व कप के शेड्यूल पर बात होगी. सूत्रों के मुताबिक अगर एशिया कप प्रभावित होता है तो वर्ल्ड कप और चैंपियंस ट्रॉफी पर भी गतिरोध रहेगा.

Previous article नहीं रहे पूर्व राष्ट्रपति जनरल मुशर्रफ, पाक राष्ट्रपति अल्वी, पीएम शहबाज़ और कांग्रेस नेता थरूर ने जताया दुख
Next article महाराष्ट्र के नांदेड़ में बीआरएस की मेगा रैली, केसीआर बोले-किसानों पर दें ध्यान, भाषण से नहीं बनेगा काम
पिछले 23 सालों से डेडीकेटेड पत्रकार अंज़रुल बारी की पहचान प्रिंट, टीवी और डिजिटल मीडिया में एक खास चेहरे के तौर पर रही है. अंज़रुल बारी को देश के एक बेहतरीन और सुलझे एंकर, प्रोड्यूसर और रिपोर्टर के तौर पर जाना जाता है. इन्हें लंबे समय तक संसदीय कार्रवाइयों की रिपोर्टिंग का लंबा अनुभव है. कई भाषाओं के माहिर अंज़रुल बारी टीवी पत्रकारिता से पहले ऑल इंडिया रेडियो, अलग अलग अखबारों और मैग्ज़ीन से जुड़े रहे हैं. इन्हें अपने 23 साला पत्रकारिता के दौर में विदेशी न्यूज़ एजेंसियों के लिए भी काम करने का अच्छा अनुभव है. देश के पहले प्राइवेट न्यूज़ चैनल जैन टीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर शो 'मुसलमान कल आज और कल' को इन्होंने बुलंदियों तक पहुंचाया, टीवी पत्रकारिता के दौर में इन्होंने देश की डिप्राइव्ड समाज को आगे लाने के लिए 'किसान की आवाज़', वॉइस ऑफ क्रिश्चियनिटी' और 'दलित आवाज़', जैसे चर्चित शोज़ को प्रोड्यूस कराया है. ईटीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर राजनीतिक शो 'सेंट्रल हॉल' के भी प्रोड्यूस रह चुके अंज़रुल बारी की कई स्टोरीज़ ने अपनी अलग छाप छोड़ी है. राजनीतिक हल्के में अच्छी पकड़ रखने वाले अंज़र सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक और अंतरराष्ट्रीय खबरों पर अच्छी पकड़ रखते हैं साथ ही अपने बेबाक कलम और जबान से सदा बहस का मौज़ू रहे है. डी.डी उर्दू चैनल के शुरू होने के बाद फिल्मी हस्तियों के इंटरव्यूज़ पर आधारित स्पेशल शो 'फिल्म की ज़बान उर्दू की तरह' से उन्होंने खूब नाम कमाया. सामाजिक हल्के में अपनी एक अलग पहचान रखने वाले अंज़रुल बारी 'इंडो मिडिल ईस्ट कल्चरल फ़ोरम' नामी मशहूर संस्था के संस्थापक महासचिव भी हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here