Home ताज़ातरीन संयुक्त राष्ट्र महासचिव गुतारेस तीन दिनों की भारत यात्रा पर, पाकिस्तान को कड़ा संदेश 

संयुक्त राष्ट्र महासचिव गुतारेस तीन दिनों की भारत यात्रा पर, पाकिस्तान को कड़ा संदेश 

0
संयुक्त राष्ट्र महासचिव गुतारेस तीन दिनों की भारत यात्रा पर, पाकिस्तान को कड़ा संदेश 

अखिलेश अखिल

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस तीन दिवसीय यात्रा पर मंगलवार को भारत पहुंच रहे हैं. विदेश मंत्रालय के बयान के अनुसार, जनवरी 2022 में इस वैश्विक संस्था के महासचिव के तौर पर दूसरी बार कार्यभार संभालने के बाद यह गुतारेस की पहली भारत यात्रा होगी. इससे पहले गुतारेस अक्टूबर 2018 में भारत आए थे. गुतारेस संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की आतंकवाद रोधी समिति की विशेष बैठक में हिस्सा लेंगे. इस बार यह बैठक मुंबई में हो रही है. इस बैठक में ड्रोन और अन्य उभरती हुई टेक्नोलॉजी पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा.

सात सालों में यह पहला मौका है जब यह आतंक रोधी समिति की विशेष बैठक संयुक्त राष्ट्र के मुख्यालय से बाहर आयोजित की जा रही है. यह बैठक भारत के मुख्य शहरों मुंबई और दिल्ली में 28 और 29 अक्टूबर को होनी है. इसमें आतंकी गतिविधियों के लिए इस्तेमाल की जा रही नई और उभरती हुई प्रौद्योगिकियों पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा.

संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि इस तरह की बैठक का लक्ष्य सदस्य देशों को आतंकी इरादों और कार्रवाइयों को रोकने के लिए सदस्य देशों को नई प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल की जानकारी देना है. ताकि आतंकियों को कानून के दायरे में लाया जा सके. गुतारेस 26/11 हमले में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि भी देंगे.

माना जा रहा है कि आतंकवाद की सबसे सुरक्षित पनाहगाह रहे पाकिस्तान के लिए यह एक तरह से कड़ा संदेश है. इसके बाद वह आजादी के 75 साल पूरे होने के मौके पर यूएन-इंडिया पार्टनरशिप- दक्षिण सहयोग को लेकर आईआईटी के छात्रों और फैकल्टी को संबोधित करेंगे. इसके अलावा विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ उनकी द्विपक्षीय वार्ता होगी.

दौरे के आखिरी दिन गुटेरस गुजरात के केवड़िया में प्रधानमंत्री मोदी के साथ रहेंगे. पीएम मोदी केवड़िया में मिशन लाइफ की बुकलेट, लोगो और टैगलाइन को लॉन्च करेंगे. एंटोनियो गोटेरस भी उनके साथ मौजूद रहेंगे. और इस कार्यक्रम का हिस्सा बनेंगे. केवड़िया में गुटेरस सरदार पटेल की विशालकाय प्रतिमा पर पुष्पांजलि भी अर्पित करेंगे. इसके अलावा वह भारत के पहले सोलर विलेज मोढेरा का भी दौरा करेंगे. गुटेरस मोढेरा के सूर्य मंदिर का भी दर्शन करेंगे. बता दें कि 28 और 29 अक्टूबर को मुंबई और नई दिल्ली में आतंकवाद के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र की समिति की बैठक होनी है.

Previous article डी.वाई चंद्रचूड़ देश के 50 वें मुख्य न्यायाधीश नियुक्त, 9 नवम्बर को लेंगे शपथ 
Next article इंडिया अमीर और भारत गरीब का अमृतकाल
पिछले 23 सालों से डेडीकेटेड पत्रकार अंज़रुल बारी की पहचान प्रिंट, टीवी और डिजिटल मीडिया में एक खास चेहरे के तौर पर रही है. अंज़रुल बारी को देश के एक बेहतरीन और सुलझे एंकर, प्रोड्यूसर और रिपोर्टर के तौर पर जाना जाता है. इन्हें लंबे समय तक संसदीय कार्रवाइयों की रिपोर्टिंग का लंबा अनुभव है. कई भाषाओं के माहिर अंज़रुल बारी टीवी पत्रकारिता से पहले ऑल इंडिया रेडियो, अलग अलग अखबारों और मैग्ज़ीन से जुड़े रहे हैं. इन्हें अपने 23 साला पत्रकारिता के दौर में विदेशी न्यूज़ एजेंसियों के लिए भी काम करने का अच्छा अनुभव है. देश के पहले प्राइवेट न्यूज़ चैनल जैन टीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर शो 'मुसलमान कल आज और कल' को इन्होंने बुलंदियों तक पहुंचाया, टीवी पत्रकारिता के दौर में इन्होंने देश की डिप्राइव्ड समाज को आगे लाने के लिए 'किसान की आवाज़', वॉइस ऑफ क्रिश्चियनिटी' और 'दलित आवाज़', जैसे चर्चित शोज़ को प्रोड्यूस कराया है. ईटीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर राजनीतिक शो 'सेंट्रल हॉल' के भी प्रोड्यूस रह चुके अंज़रुल बारी की कई स्टोरीज़ ने अपनी अलग छाप छोड़ी है. राजनीतिक हल्के में अच्छी पकड़ रखने वाले अंज़र सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक और अंतरराष्ट्रीय खबरों पर अच्छी पकड़ रखते हैं साथ ही अपने बेबाक कलम और जबान से सदा बहस का मौज़ू रहे है. डी.डी उर्दू चैनल के शुरू होने के बाद फिल्मी हस्तियों के इंटरव्यूज़ पर आधारित स्पेशल शो 'फिल्म की ज़बान उर्दू की तरह' से उन्होंने खूब नाम कमाया. सामाजिक हल्के में अपनी एक अलग पहचान रखने वाले अंज़रुल बारी 'इंडो मिडिल ईस्ट कल्चरल फ़ोरम' नामी मशहूर संस्था के संस्थापक महासचिव भी हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here