Saturday, April 13, 2024
होमताज़ातरीनजोधपुर के बाद भीलवाड़ा में बवाल, छावनी में बदला शहर

जोधपुर के बाद भीलवाड़ा में बवाल, छावनी में बदला शहर

अंज़रूल बारी

राजस्थान में जोधपुर के बाद अब भीलवाड़ा सुलग रहा है. राजस्थान के उदयपुर में अगले सप्ताह कांग्रेस की बैठक होनी है, जबकि इस महीने के तीसरे सप्ताह में बीजेपी की बैठक की तैयारी चल रही. राजस्थान में अगले साल चुनाव होने हैं लेकिन कांग्रेस और बीजेपी की बैठक अगले लोकसभा चुनाव के साथ ही राजस्थान चुनाव पर भी केंद्रित है. लेकिन इसी बीच जिस तरह का माहौल राजस्थान में देखने को मिल रहा हैं वह काफी भयावह है. पहले जोधपुर में साम्प्रदायिक दंगे हुए और अब भीलवाड़ा में जो कुछ हुआ वह चिंता का विषय है.
जानकारी के मुताबिक़ सांगानेर में बुधवार रात को दो युवकों के साथ एक दर्जन से ज्यादा नकाबपोशों ने मारपीट करके उनकी बाइक जला दी. इसके बाद लोगों ने हमलावरों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर घायलों को अस्‍पताल ले जाने का विरोध किया. हालांकि, पुलिस – प्रशासन द्वारा समझने के बाद घायलों को जिला अस्‍पताल में भर्ती करा दिया गया. शहर में बड़ी तादात में पुलिस तैनात है.
घायलों को इलाज के लिए ले जाने के बाद भी शहर में तनाव कम नहीं हुआ है. हालात को देखते हुए सांगानेर इलाके में 33 थानों के 150 से ज्यादा जवानों को तैनात किया गया है. वहीं, गुरुवार सुबह पूरे जिले में इंटरनेट बंद कर दिया गया. इधर, जोधपुर में ईद पर जमकर बवाल हुआ था, जिसके बाद अभी भी शहर में कर्फ्यू लगा हुआ है. साथ ही इंटरनेट भी बंद रखा गया है.
भीलवाड़ा के एसपी आदर्श सिद्धू ने बताया कि घटना बुधवार रात करीब दस बजे की है. यहां सांगानेर के करबला रोड पर बैठे हुए दो युवक आजाद और सद्दाम पर कुछ लोगों ने हमला कर दिया था. इसके बाद हालात बिगड़े. अब तक दोनों युवकों पर हमले की वजह का पता नहीं चल पाया है. दोनों घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उनकी हालत खतरे से बाहर है.
कलेक्टर आशीष मोदी ने बताया कि दोनों युवकों के साथ मारपीट और बाइक जलाने के मामले में पुलिस टीम हमलावर की तलाश में जुटी है. घटनास्थल के आसपास और शहर से बाहर जाने वाले रास्तों पर सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं. लोगों से सूचना जुटाकर आरोपियों तक पहुंचने की कोशिश की जा रही है. उन्होंने लोगों से अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील की है.
बता दें कि भीलवाड़ा का उपनगर सांगानेर अतिसंवेदनशील क्षेत्रों में माना जाता है. राजस्थान में करौली, अलवर, जोधपुर और अब भीलवाड़ा में माहौल खराब करने की कोशिश के तौर पर इस घटना को देखा जा रहा है.

Anzarul Bari
Anzarul Bari
पिछले 23 सालों से डेडीकेटेड पत्रकार अंज़रुल बारी की पहचान प्रिंट, टीवी और डिजिटल मीडिया में एक खास चेहरे के तौर पर रही है. अंज़रुल बारी को देश के एक बेहतरीन और सुलझे एंकर, प्रोड्यूसर और रिपोर्टर के तौर पर जाना जाता है. इन्हें लंबे समय तक संसदीय कार्रवाइयों की रिपोर्टिंग का लंबा अनुभव है. कई भाषाओं के माहिर अंज़रुल बारी टीवी पत्रकारिता से पहले ऑल इंडिया रेडियो, अलग अलग अखबारों और मैग्ज़ीन से जुड़े रहे हैं. इन्हें अपने 23 साला पत्रकारिता के दौर में विदेशी न्यूज़ एजेंसियों के लिए भी काम करने का अच्छा अनुभव है. देश के पहले प्राइवेट न्यूज़ चैनल जैन टीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर शो 'मुसलमान कल आज और कल' को इन्होंने बुलंदियों तक पहुंचाया, टीवी पत्रकारिता के दौर में इन्होंने देश की डिप्राइव्ड समाज को आगे लाने के लिए 'किसान की आवाज़', वॉइस ऑफ क्रिश्चियनिटी' और 'दलित आवाज़', जैसे चर्चित शोज़ को प्रोड्यूस कराया है. ईटीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर राजनीतिक शो 'सेंट्रल हॉल' के भी प्रोड्यूस रह चुके अंज़रुल बारी की कई स्टोरीज़ ने अपनी अलग छाप छोड़ी है. राजनीतिक हल्के में अच्छी पकड़ रखने वाले अंज़र सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक और अंतरराष्ट्रीय खबरों पर अच्छी पकड़ रखते हैं साथ ही अपने बेबाक कलम और जबान से सदा बहस का मौज़ू रहे है. डी.डी उर्दू चैनल के शुरू होने के बाद फिल्मी हस्तियों के इंटरव्यूज़ पर आधारित स्पेशल शो 'फिल्म की ज़बान उर्दू की तरह' से उन्होंने खूब नाम कमाया. सामाजिक हल्के में अपनी एक अलग पहचान रखने वाले अंज़रुल बारी 'इंडो मिडिल ईस्ट कल्चरल फ़ोरम' नामी मशहूर संस्था के संस्थापक महासचिव भी हैं.
RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments