Sunday, February 25, 2024
होमताज़ातरीन*विख्यात शिक्षाविद डॉ. आज़म बेग का ब्रिटिश संसद में संंबोधन, शैक्षणिक एवं...

*विख्यात शिक्षाविद डॉ. आज़म बेग का ब्रिटिश संसद में संंबोधन, शैक्षणिक एवं सामाजिक सेवाओं के लिए हाउस ऑफ कॉमनस,लंदन में होगा सम्मान*

/प्रेस नोट/

*विख्यात शिक्षाविद डॉ. आज़म बेग का ब्रिटिश संसद में संंबोधन, शैक्षणिक एवं सामाजिक सेवाओं के लिए हाउस ऑफ कॉमनस,लंदन में होगा सम्मान*।

*कोटा से लेकर जयपुर तक जश्न का माहौल*

कोटा, 05, सितंबर –

कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय संयोजक, इंडियन मुस्लिम फॉर सिविल राइट्स के महासचिव (संगठन), अलीगढ़ विश्वविद्यालय छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष एवं राजस्थान मदरसा बोर्ड के पूर्व महासचिव और JLN एजुकेशनल ग्रुप राजस्थान के संस्थापक निदेशक डॉक्टर आजम बेग हाउस ऑफ कॉमन्स में आयोजित समारोह में भाग लेने के लिए लंदन रवाना हो गए हैं. लंदन रवाना होने से पहले उनके सम्मान में कोटा से लेकर जयपुर तक लोगों में उनके प्रति काफी जोश देखा गया.

इस मौके पर डॉक्टर आजम बेग ने कहा, हम दुनिया के किसी भी मुल्क में चल जाएं, लेकिन भारत की मिट्टी में जो खुशबू बसी है वह कहीं और नहीं मिलती, उन्होंने कहा कि हमने दुनिया के कई देशों को देखा है, लोगों से मिला हूं लेकिन जो स्नेह और अपनाइयत यहां के लोगों में है, वो दुनिया के किसी और हिस्से में देखने को भी नहीं मिलती है, उन्होंने कहा कि हम राजस्थान ही नहीं देश का मान और सम्मान बढ़ाने के लिए हर संभव कोशिश करेंगे. उन्होंने कहा कि हाउस ऑफ कॉमन्स में मिलने वाला सम्मान सिर्फ मेरा ही नहीं यह पूरे राजस्थान का सम्मान है और अपने राज्य और देश का गौरव बढ़ाने का हौस्ला आपकी दुआओं और स्नेह से मिल रहा है.

लंदन रवाना होने से पहले जगह जगह डॉ. आज़म बेग पर फूलों का हार डाल कर, कहीं,कहीं शॉल पहना कर कहीं पगड़ी पहना कर और कहीं आतिशबाजी करके उनका स्वागत किया गया. श्यामपुरा रोड स्थित सांगोद न्यू कैंपस से पुराने केंपस पहुंचे डॉ. बेग का स्टाफ के वरिष्ठ सदस्यों द्वारा माल्यार्पण किया गया, इस दौरान जोल्पा रोड स्थित जेएलएन केंपस से दर्जनों गाड़ियों के साथ डॉ. बेग का काफिला जेएलएन संस्कार एकेडमी स्कूल पहुंचा, जहां छोटे-छोटे बच्चों ने उनके स्वागत में गीत गाकर उनका सम्मान किया. फिर डॉ. बेग का काफिला जवाहर पब्लिक स्कूल पहुंचा, जहां स्कूल स्टाफ के वरिष्ठ सदस्यों तथा छात्र छात्राओं ने पूरी आत्मीयता के साथ डॉ. बेग की गुल पोशी की. इस दौरान डॉ. अशरफ बेग द्वारा शॉल और पगड़ी पहनाई गई, उसके बाद अमन मिर्जा द्वारा 51 किलो की माला पहना कर जोरदार स्वागत किया गया. कोटा पहुंचने पर भी विभिन्न सामाजिक एवं शैक्षणिक संस्थाओं द्वारा डॉक्टर आजम बैग का स्वागत किया गया यहां पाटन पोल स्थित स्कूल में शिक्षा मित्र सर्वोदय एजुकेशनल ग्रुप के निर्देशक ए जी,मिर्जा और उनकी टीम सदस्यों द्वारा छात्र छात्राओं ने पुष्प वर्षा कर स्वागत किया जहां डॉक्टर आजम बैग को शॉल और माला पहनाकर सम्मानित किया गया उसके बाद विज्ञान नगर स्थित पैरामाउंट इंग्लिश मीडियम स्कूल में स्कूल के निदेशक डॉक्टर अजहर ओर मजहर मिर्जा द्वारा 21 किलो की माला पहनकर स्वागत

सतकार किया गया और डॉक्टर फरीदा बैग सहित डॉक्टर आजम बैग को भी 21 किलो की माला पहना कर मुबारकबाद पेश की गई।

यहां इंजीनियर खलीलुद्दीन, साजिद जावेद, शकील मिर्जा ए जी मिर्जा सहित शहर की अनेक गणमान्य हस्तियां मौजूद रही

गौरतलब है कि डॉ. आज़म बेग को 7 सितंबर को ब्रिटिश संसद हाऊस ऑफ़ कॉमन्स में आयोजित एक भव्य समारोह में उनके द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में किए गए उल्लेखनीय कार्य को देखते हुए न सिर्फ सम्मानित किया जाएगा, बल्कि इस दौरान वो संसद सदस्यों और दुनिया भर से पहुंचे विशेष अतिथियों को संबोधित भी करेंगे. इसके अलावा डॉ. बेग की ब्रिटेन यात्रा को देखते हुए ब्रिटिश अलीग बिरादरी ने उनके सम्मान में कई प्रोग्राम आयोजित किए हैं, जिसमें वो अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के हालात पर चर्चा करेंगे. डॉ. बेग का ब्रिटेन में मौजूद इंडियन मुस्लिम ब्रिटिश काउंसिल के ओहदेदारों से भी मुलाकात का प्रोग्राम है. डॉ. बेग की स्वदेश वापसी 13 सितंबर को होगी.

उज़मा बैग

को – ऑर्डिनेटर, मीडिया हेड

जे.एल.एन ग्रुप ऑफ एजुकेशन इंस्टीट्यूशन, सांगोद,कोटा

Anzarul Bari
Anzarul Bari
पिछले 23 सालों से डेडीकेटेड पत्रकार अंज़रुल बारी की पहचान प्रिंट, टीवी और डिजिटल मीडिया में एक खास चेहरे के तौर पर रही है. अंज़रुल बारी को देश के एक बेहतरीन और सुलझे एंकर, प्रोड्यूसर और रिपोर्टर के तौर पर जाना जाता है. इन्हें लंबे समय तक संसदीय कार्रवाइयों की रिपोर्टिंग का लंबा अनुभव है. कई भाषाओं के माहिर अंज़रुल बारी टीवी पत्रकारिता से पहले ऑल इंडिया रेडियो, अलग अलग अखबारों और मैग्ज़ीन से जुड़े रहे हैं. इन्हें अपने 23 साला पत्रकारिता के दौर में विदेशी न्यूज़ एजेंसियों के लिए भी काम करने का अच्छा अनुभव है. देश के पहले प्राइवेट न्यूज़ चैनल जैन टीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर शो 'मुसलमान कल आज और कल' को इन्होंने बुलंदियों तक पहुंचाया, टीवी पत्रकारिता के दौर में इन्होंने देश की डिप्राइव्ड समाज को आगे लाने के लिए 'किसान की आवाज़', वॉइस ऑफ क्रिश्चियनिटी' और 'दलित आवाज़', जैसे चर्चित शोज़ को प्रोड्यूस कराया है. ईटीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर राजनीतिक शो 'सेंट्रल हॉल' के भी प्रोड्यूस रह चुके अंज़रुल बारी की कई स्टोरीज़ ने अपनी अलग छाप छोड़ी है. राजनीतिक हल्के में अच्छी पकड़ रखने वाले अंज़र सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक और अंतरराष्ट्रीय खबरों पर अच्छी पकड़ रखते हैं साथ ही अपने बेबाक कलम और जबान से सदा बहस का मौज़ू रहे है. डी.डी उर्दू चैनल के शुरू होने के बाद फिल्मी हस्तियों के इंटरव्यूज़ पर आधारित स्पेशल शो 'फिल्म की ज़बान उर्दू की तरह' से उन्होंने खूब नाम कमाया. सामाजिक हल्के में अपनी एक अलग पहचान रखने वाले अंज़रुल बारी 'इंडो मिडिल ईस्ट कल्चरल फ़ोरम' नामी मशहूर संस्था के संस्थापक महासचिव भी हैं.
RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments