Saturday, April 13, 2024
होमताज़ातरीनपूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक का बीजेपी पर हमला, कहा लोकसभा चुनाव में...

पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक का बीजेपी पर हमला, कहा लोकसभा चुनाव में बीजेपी का पता नहीं चलेगा 

मेघालय के पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक़ ने एक बार फिर से बीजेपी पर हमला किया है. मलिक ने कहा कि हिमाचल में बीजेपी की सीटें घटेगी, और लोकसभा चुनाव में बीजेपी का पता भी नहीं चलेगा. मलिक ने हरियाणा के रेवाड़ी में गुजरात और हिमाचल चुनाव को लेकर बड़ा दावा किया है. सत्यपाल मलिक ने कहा कि यह सब मीडिया का खेल है, कोई मोदी-मोदी नहीं कर रहा है. उन्होंने कहा कि जहां चुनाव हो रहे हैं, वहां बीजेपी की सीटें घटेंगी.

लोकसभा में भारतीय जनता पार्टी का पता ही नहीं चलेगा. मलिक यहीं नहीं रुके. उन्होंने दावा किया कि भारतीय जनता पार्टी बंगाल, केरल, तमिलनाडु, महाराष्ट्र, राजस्थान मे भी चुनाव हारेगी.

उत्तर प्रदेश की राजनीति को लेकर मलिक ने कहा कि वहां पैसे के लालच में बसपा प्रमुख मायावती आखिर में आकर खेल कर देती हैं. उन्होंने कहा कि बाकी बीजेपी न तो पंजाब जीत रही है और न ही हरियाणा जीत रही है. उन्होंने कहा कि लोग बीजेपी के खेल को समझ गई है.

केंद्र की मोदी सरकार पर हमलावर होते हुए मलिक ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में गेहूं के दाम बढ़ेंगे. इससे पहले ही अडाणी के पानीपत में गोदाम बनवा दिए गए. किसानों की फसलों का सही दाम नहीं मिला. जब आंदोलन खत्म हुआ तो कुछ मुख्य मांगे थी. केन्द्र सरकार ने तीनों कृषि कानून तो वापस ले लिए, लेकिन उस वक्त किया वादा पूरा नहीं किया.

उन्होंने कहा कि न किसानों पर दर्ज मुकदमे वापस हुए और न ही किसानों को एमएसपी का दाम मिला. एमएसपी की गारंटी के कानून की बात ही नहीं हो रही. मलिक ने कहा कि अगर फिर से किसानों ने आंदोलन किया तो वह हर जगह किसानों के बीच पहुंचेंगे. किसानों की आय बढ़ाने की बात की थी, लेकिन आज तक कुछ नहीं किया. उन्होंने कहा कि गवर्नर रहते दबाव तो उन पर भी बहुत आया, लेकिन उस दबाव को उन्होंने नहीं माना.

अहीर रेजिमेंट को लेकर सत्यपाल मलिक ने कहा कि अहीर रेजिमेंट तो बहुत पहले बन जानी चाहिए थी. अहीरों का गौरवशाली इतिहास किसी से छिपा नहीं है. उन्होंने कहा कि रेवाड़ी का ही एक गांव कोसली ऐसा है, जहां एक घर में दो-दो लोग सेना में है. यहां के सैनिकों ने बहुत बलिदान दिया है.

Anzarul Bari
Anzarul Bari
पिछले 23 सालों से डेडीकेटेड पत्रकार अंज़रुल बारी की पहचान प्रिंट, टीवी और डिजिटल मीडिया में एक खास चेहरे के तौर पर रही है. अंज़रुल बारी को देश के एक बेहतरीन और सुलझे एंकर, प्रोड्यूसर और रिपोर्टर के तौर पर जाना जाता है. इन्हें लंबे समय तक संसदीय कार्रवाइयों की रिपोर्टिंग का लंबा अनुभव है. कई भाषाओं के माहिर अंज़रुल बारी टीवी पत्रकारिता से पहले ऑल इंडिया रेडियो, अलग अलग अखबारों और मैग्ज़ीन से जुड़े रहे हैं. इन्हें अपने 23 साला पत्रकारिता के दौर में विदेशी न्यूज़ एजेंसियों के लिए भी काम करने का अच्छा अनुभव है. देश के पहले प्राइवेट न्यूज़ चैनल जैन टीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर शो 'मुसलमान कल आज और कल' को इन्होंने बुलंदियों तक पहुंचाया, टीवी पत्रकारिता के दौर में इन्होंने देश की डिप्राइव्ड समाज को आगे लाने के लिए 'किसान की आवाज़', वॉइस ऑफ क्रिश्चियनिटी' और 'दलित आवाज़', जैसे चर्चित शोज़ को प्रोड्यूस कराया है. ईटीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर राजनीतिक शो 'सेंट्रल हॉल' के भी प्रोड्यूस रह चुके अंज़रुल बारी की कई स्टोरीज़ ने अपनी अलग छाप छोड़ी है. राजनीतिक हल्के में अच्छी पकड़ रखने वाले अंज़र सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक और अंतरराष्ट्रीय खबरों पर अच्छी पकड़ रखते हैं साथ ही अपने बेबाक कलम और जबान से सदा बहस का मौज़ू रहे है. डी.डी उर्दू चैनल के शुरू होने के बाद फिल्मी हस्तियों के इंटरव्यूज़ पर आधारित स्पेशल शो 'फिल्म की ज़बान उर्दू की तरह' से उन्होंने खूब नाम कमाया. सामाजिक हल्के में अपनी एक अलग पहचान रखने वाले अंज़रुल बारी 'इंडो मिडिल ईस्ट कल्चरल फ़ोरम' नामी मशहूर संस्था के संस्थापक महासचिव भी हैं.
RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments