Thursday, February 29, 2024
होमताज़ातरीनपार्टी स्थापना दिवस पर खड़गे आज मुंबई में कार्यक्रम को सम्बोधित करेंगे 

पार्टी स्थापना दिवस पर खड़गे आज मुंबई में कार्यक्रम को सम्बोधित करेंगे 

कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे आज पार्टी के स्थापना दिवस पर मुंबई पहुंच रहे हैं, यहां वो एक कार्यक्रम का उद्घाटन करेंगे. कांग्रेस पार्टी की नींव मुंबई में 137 साल पहले रखी गई थी. इस मौके पर सभी राज्य मुख्यालयों के अलावा मुख्य कार्यक्रम दिल्ली के राष्ट्रीय मुख्यालय में होता है, जहां कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पार्टी का झंडा फहराते हैं.

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थापना 28 दिसंबर, 1885 को बॉम्बे (मुंबई) में दास तेजपाल संस्कृत कॉलेज में 72 प्रतिनिधियों की उपस्थिति में हुई थी. इसके संस्थापक महासचिव एओ ह्यूम थे, और व्योमेश चंद्र बनर्जी को अध्यक्ष बनाया गया था. इसी तरह हर साल 28 दिसंबर को पार्टी अपना स्थापना दिवस मनाती है.

कांग्रेस अध्यक्ष खड़गे 37 साल बाद इस परंपरा को फिर शुरू करने जा रहे हैं. सितंबर में अध्यक्ष पद के लिए चुने गए खड़गे दिल्ली में कांग्रेस मुख्यालय में कार्यक्रम में शामिल होने के बाद मुंबई कांग्रेस द्वारा आयोजित स्थापना दिवस कार्यक्रम का उद्घाटन करेंगे. इससे पहले साल 1985 में राजीव गांधी मुंबई में कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर पार्टी के स्थापना दिवस में शामिल हुए थे, और उस साल मुख्य कार्यक्रम मुंबई में ही आयोजित किया गया था.

कांग्रेस को 24 साल बाद गैर गांधी अध्यक्ष मिला है. 1998 में सोनिया गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बनाया गया था और 2017 में राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष के रूप में चुना गया, लेकिन 2019 के लोकसभा चुनावों में हार के बाद राहुल गांधी ने पद से इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद खड़गे को पार्टी का अध्यक्ष चुना गया है, जो हर मौके पर पार्टी कार्यकर्ताओं को यह संदेश देने पर ध्यान दे रहे हैं कि उन्होंने पार्टी मुख्यालय में बिना अप्वाइंटमेंट के लोगों से मिलना शुरू कर दिया है.

हाल ही में, कांग्रेस ने हिमाचल प्रदेश चुनाव जीता है. हालांकि, उनके पदभार ग्रहण करने के बाद कांग्रेस गुजरात विधानसभा चुनाव हार गई. खड़गे पार्टी के स्थापना दिवस पर मूल स्थान पर जाकर कार्यकर्ताओं को पार्टी मूल्यों का संदेश देने का प्रयास करेंगे.

Anzarul Bari
Anzarul Bari
पिछले 23 सालों से डेडीकेटेड पत्रकार अंज़रुल बारी की पहचान प्रिंट, टीवी और डिजिटल मीडिया में एक खास चेहरे के तौर पर रही है. अंज़रुल बारी को देश के एक बेहतरीन और सुलझे एंकर, प्रोड्यूसर और रिपोर्टर के तौर पर जाना जाता है. इन्हें लंबे समय तक संसदीय कार्रवाइयों की रिपोर्टिंग का लंबा अनुभव है. कई भाषाओं के माहिर अंज़रुल बारी टीवी पत्रकारिता से पहले ऑल इंडिया रेडियो, अलग अलग अखबारों और मैग्ज़ीन से जुड़े रहे हैं. इन्हें अपने 23 साला पत्रकारिता के दौर में विदेशी न्यूज़ एजेंसियों के लिए भी काम करने का अच्छा अनुभव है. देश के पहले प्राइवेट न्यूज़ चैनल जैन टीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर शो 'मुसलमान कल आज और कल' को इन्होंने बुलंदियों तक पहुंचाया, टीवी पत्रकारिता के दौर में इन्होंने देश की डिप्राइव्ड समाज को आगे लाने के लिए 'किसान की आवाज़', वॉइस ऑफ क्रिश्चियनिटी' और 'दलित आवाज़', जैसे चर्चित शोज़ को प्रोड्यूस कराया है. ईटीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर राजनीतिक शो 'सेंट्रल हॉल' के भी प्रोड्यूस रह चुके अंज़रुल बारी की कई स्टोरीज़ ने अपनी अलग छाप छोड़ी है. राजनीतिक हल्के में अच्छी पकड़ रखने वाले अंज़र सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक और अंतरराष्ट्रीय खबरों पर अच्छी पकड़ रखते हैं साथ ही अपने बेबाक कलम और जबान से सदा बहस का मौज़ू रहे है. डी.डी उर्दू चैनल के शुरू होने के बाद फिल्मी हस्तियों के इंटरव्यूज़ पर आधारित स्पेशल शो 'फिल्म की ज़बान उर्दू की तरह' से उन्होंने खूब नाम कमाया. सामाजिक हल्के में अपनी एक अलग पहचान रखने वाले अंज़रुल बारी 'इंडो मिडिल ईस्ट कल्चरल फ़ोरम' नामी मशहूर संस्था के संस्थापक महासचिव भी हैं.
RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments