Thursday, February 29, 2024
होमताज़ातरीननीतीश कुमार आएंगे दिल्ली, बीजेपी के खिलाफ करेंगे मोर्चाबंदी

नीतीश कुमार आएंगे दिल्ली, बीजेपी के खिलाफ करेंगे मोर्चाबंदी

 

जदयू की राष्ट्रिय कार्यकारणी की बैठक कल समाप्त हो गई. अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सोमवार को चार दिवसीय राजनीतिक यात्रा पर दिल्ली पहुँच रहे हैं. दिल्ली में उनकी मुलाकात कांग्रेस नेताओं के साथ ही विपक्ष के कई नेताओं से होनी है. उन्होंने साफ़ कर दिया है कि उनका मकसद अब सिर्फ बीजेपी को सत्ता से अलग करना है.
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि पार्टी इसके साथ लोगों को ‘सदाचारी’ (अच्छे आचरण वाले) और इसकी नीतियों के खिलाफ बोलने वालों को ‘भ्रष्टचारी’ मानती है. नीतीश कुमार ने जोर देकर कहा कि वह देश भर में विपक्षी दलों को एकजुट करने के लिए बीजेपी से मुकाबला करने के लिए काम करेंगे, इस चर्चा के बीच कि जदयू 2024 के लोकसभा चुनावों में उनके लिए विपक्षी नेतृत्व की भूमिका पर नजर गड़ाए हुए है. सूत्रों ने कहा कि नीतीश कुमार ने जदयू की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में बोलते हुए आश्चर्य जताया कि क्या अन्य दलों के नेताओं की होर्स ट्रेडिंग भ्रष्टाचार नहीं है, जो कई राज्यों में विपक्षी नेताओं के बीजेपी में जाने का एक स्पष्ट संदर्भ है.
सीएम ने रविवार को संवाददाताओं से कहा कि एक संयुक्त विपक्ष केंद्र में बीजेपी को सत्ता से बेदखल कर सकता है. पार्टी सदस्यों को अपने संबोधन में, कुमार ने यह भी कहा कि वह फिर कभी बीजेपी के साथ गठबंधन नहीं करेंगे, त्यागी ने कहा, “सांप्रदायिक” राजनीति जैसे मुद्दों पर पार्टी पर हमला किया.
अपनी यात्रा के दौरान नीतीश कुमार राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ से भी मुलाकात करेंगे. रविवार को दिल्ली में कांग्रेस की ‘मेहंगई पर हल्ला बोल’ रैली के बारे में पूछे जाने पर नीतीश कुमार ने कहा, “यह अच्छा है.” जदयू के मुख्य प्रवक्ता के सी त्यागी ने संवाददाताओं से कहा कि नीतीश कुमार दिल्ली में कांग्रेस के अलावा करीब छह क्षेत्रीय दलों के नेताओं से भी मुलाकात करेंगे. त्यागी ने कहा कि उनकी पार्टी नीतीश कुमार को “उगते सूरज” के रूप में वर्णित करते हुए विपक्ष के प्रधान मंत्री पद के चेहरे के रूप में पेश नहीं कर रही है.
उन्होंने कहा, “सूरज पूर्व में उगता है,” उन्होंने देश के पूर्व में बिहार की भौगोलिक स्थिति को रेखांकित करते हुए कहा. दिग्गज समाजवादी नेता ने दावा किया कि नीतीश कुमार के पिछले महीने बीजेपी से नाता तोड़ने के फैसले ने विपक्षी खेमे को उसी तरह उत्साहित कर दिया है जैसे 80 के दशक के अंत में वीपी सिंह के शामिल होने से हुआ था.
त्यागी ने कहा कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव जैसे कुछ नेता गैर-बीजेपी और गैर-कांग्रेसी मोर्चा चाहते हैं, लेकिन जद (यू) इससे सहमत नहीं है. उन्होंने कहा कि बीजेपी के खिलाफ व्यवहार्य गठबंधन के लिए कांग्रेस का साथ होना जरूरी है. कांग्रेस बिहार में सत्तारूढ़ महागठबंधन का हिस्सा है.
पत्रकारों से बात करते हुए, जदयू के अध्यक्ष ललन सिंह ने आरोप लगाया कि बीजेपी नेता और गृह मंत्री अमित शाह की इस महीने के अंत में बिहार की प्रस्तावित यात्रा का उद्देश्य राज्य में सांप्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ना है. उन्होंने कहा, “इससे कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा,” उन्होंने दावा किया कि महागठबंधन 2024 में राज्य की सभी 40 लोकसभा सीटों पर जीत हासिल करेगा.
पार्टी की बैठक के विवरण के बारे में बोलते हुए, त्यागी ने कहा कि बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए के साथ संबंध तोड़ने के फैसले की उसके सदस्यों ने सराहना की, क्योंकि भगवा पार्टी जदयू को एक “साजिश” के रूप में कमजोर करने की कोशिश कर रही थी. उन्होंने कहा, “बीजेपी बिहार में नीतीश कुमार सरकार को गिराने के लिए एकनाथ शिंदे की योजना को दोहराने की कोशिश कर रही थी. हालांकि, सीएम कुमार ने इसे समय रहते पहचान लिया और साजिश को नाकाम कर दिया.”
2020 के विधानसभा चुनावों में, जदयू की संख्या 43 पर आ गई, क्योंकि इसे “चिराग मॉडल” के साथ लक्षित किया गया था, उन्होंने तत्कालीन लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान के उन सीटों पर उम्मीदवारों को मैदान में उतारने के फैसले का जिक्र किया, जहां जदयू उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे थे.
मणिपुर में जदयू के पांच विधायकों के बीजेपी में शामिल होने पर, त्यागी ने आरोप लगाया कि ऐसा प्रलोभन देकर किया गया क्योंकि वो बैठक में शामिल होने के लिए पटना आने वाले थे. उन्होंने कहा, “पहले, बीजेपी ने नागालैंड और अरुणाचल प्रदेश में ऐसा किया था. बीजेपी हर जगह कर रही है, इसलिए सभी विपक्षी दलों को इसके खिलाफ एकजुट होना चाहिए.”
जदयू ने रविवार को समाप्त हुई अपनी दो दिवसीय बैठक में देश में राजनीतिक स्थिति से संबंधित दो प्रस्ताव पारित किए. पार्टी ने बीजेपी नीत केंद्र सरकार पर देश में “अघोषित आपातकाल” लगाने, विपक्षी आवाजों को दबाने के लिए जांच एजेंसियों का “दुरुपयोग” करने और समाज में “सांप्रदायिक उन्माद” भड़काने का आरोप लगाया है.
पार्टी के एक प्रस्ताव में कहा गया है कि बिहार के विकास के पीछे कुमार के “दृष्टिकोण और मिशन” की भारत और उसके बाहर प्रशंसा की गई है. पार्टी सूत्रों ने बताया कि जदयू नेता कई विपक्षी नेताओं से मिलने के लिए पांच सितंबर को दिल्ली पहुंच सकते हैं. जदयू ने सत्तारूढ़ बीजेपी पर “सत्तावादी” प्रवृत्ति रखने और मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के अलावा दिल्ली और झारखंड सहित कई राज्यों में गैर-बीजेपी सरकारों को अस्थिर करने का भी आरोप लगाया.

Anzarul Bari
Anzarul Bari
पिछले 23 सालों से डेडीकेटेड पत्रकार अंज़रुल बारी की पहचान प्रिंट, टीवी और डिजिटल मीडिया में एक खास चेहरे के तौर पर रही है. अंज़रुल बारी को देश के एक बेहतरीन और सुलझे एंकर, प्रोड्यूसर और रिपोर्टर के तौर पर जाना जाता है. इन्हें लंबे समय तक संसदीय कार्रवाइयों की रिपोर्टिंग का लंबा अनुभव है. कई भाषाओं के माहिर अंज़रुल बारी टीवी पत्रकारिता से पहले ऑल इंडिया रेडियो, अलग अलग अखबारों और मैग्ज़ीन से जुड़े रहे हैं. इन्हें अपने 23 साला पत्रकारिता के दौर में विदेशी न्यूज़ एजेंसियों के लिए भी काम करने का अच्छा अनुभव है. देश के पहले प्राइवेट न्यूज़ चैनल जैन टीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर शो 'मुसलमान कल आज और कल' को इन्होंने बुलंदियों तक पहुंचाया, टीवी पत्रकारिता के दौर में इन्होंने देश की डिप्राइव्ड समाज को आगे लाने के लिए 'किसान की आवाज़', वॉइस ऑफ क्रिश्चियनिटी' और 'दलित आवाज़', जैसे चर्चित शोज़ को प्रोड्यूस कराया है. ईटीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर राजनीतिक शो 'सेंट्रल हॉल' के भी प्रोड्यूस रह चुके अंज़रुल बारी की कई स्टोरीज़ ने अपनी अलग छाप छोड़ी है. राजनीतिक हल्के में अच्छी पकड़ रखने वाले अंज़र सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक और अंतरराष्ट्रीय खबरों पर अच्छी पकड़ रखते हैं साथ ही अपने बेबाक कलम और जबान से सदा बहस का मौज़ू रहे है. डी.डी उर्दू चैनल के शुरू होने के बाद फिल्मी हस्तियों के इंटरव्यूज़ पर आधारित स्पेशल शो 'फिल्म की ज़बान उर्दू की तरह' से उन्होंने खूब नाम कमाया. सामाजिक हल्के में अपनी एक अलग पहचान रखने वाले अंज़रुल बारी 'इंडो मिडिल ईस्ट कल्चरल फ़ोरम' नामी मशहूर संस्था के संस्थापक महासचिव भी हैं.
RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments