Saturday, April 13, 2024
होमखेलनिर्णायक मैच में कंगारुओं को मिली हार, भारत का सीरीज पर 2-1...

निर्णायक मैच में कंगारुओं को मिली हार, भारत का सीरीज पर 2-1 से कब्जा

तीन मैचोें के आखिरी मुकाबले में हैदराबाद के राजीव गांधी स्टेडियम में भारत ने सीरीज के आखिरी तीसरे और निर्णायक मैच में कंगारुओं को 6 विकेट से हराने के साथ ही सीरीज पर 2-1 से कब्जा कर लिया. जीत के लिए 187 रनों का पीछा करते हुए भारत की शुरुआत खराब रही जब पहले ही ओवर में केएल राहुल आउट हो गए, तो रोहित (17) भी ज्यादा देर नहीं टिक सके, लेकिन यहां से जीत की इबारत लिखी विराट कोहली (63 रन, 48 गेंद, 3 चौके, 4 छक्के) और सूर्यकुमार यादव (69 रन, 36 गेंद, 5 चौके, 5 छक्के) ने. खासकर सूर्यकुमार की बल्लेबाजी ने मन मोह लिया. भारत को जीत के लिए आखिरी 3 ओवर में 32 रन बनाने थे, तो आखिरी 6 गेंदों पर 11 रन..और इसी बीच विराट भी चले गए..और जब भारत को जीत के लिए 2 गेंदों पर 4 रन बनाने थे, तो आखिरी ओवर की पांचवीं गेंद को हार्दिक ने कीपर और शॉर्ट थर्डमैन के बीच से चौका जड़कर भारत को जीत का दीदार कराने के साथ ही सीरीज में भी 2-1 से जीत दिला दी.

पहले खेलते हुए ऑस्ट्रेलिया ने 7 विकेट पर 186 रन बनाए। टॉस हारकर खेलते हुए ऑस्ट्रेलिया ने बैटिंग की। आरोन फिंच और कैमरन ग्रीन ने पहले विकेट के लिए 44 रन जोड़े। इसके बाद फिंच 7 रन बनाकर आउट हो गए। ग्रीन ने तूफानी अंदाज में खेलते हुए 20 गेंदों एम् फिफ्टी पूरी कर ली। वह 21 गेंदों में 52 रन बनाकर आउट हो गए। यहाँ से स्टीव स्मिथ और ग्लेन मैक्सवेल क्रमशः 9 और 6 रन बनाकर आउट हो गए। जोश इंग्लिस ने 24 रन बनाए। उसके बाद टिम डेविड और डेनियल सैम्स ने धाकड़ बैटिंग की। डेविड ने 27 गेंदों में 54 रन बनाए। सैम्स 20 गेंदों में 28 रन बनाकर नाबाद रहे। इस तरह ऑस्ट्रेलिया ने 7 विकेट पर 186 रन बनाए। भारत के लिए अक्षर पटेल ने 3 विकेट झटके।जवाब में खेलते हुए टीम इंडिया की खराब शुरुआत रही। केएल राहुल 1 और रोहित शर्मा 17 रन बनाकर आउट हो गए। यहाँ से पूरा दारमोदार विराट कोहली और सूर्यकुमार यादव के ऊपर था। दोनों ने तूफानी अंदाज़ में खेलते हुए तीसरे विकेट के लिए शतकीय भागीदारी की।

भारत ने एक गेंद शेष रहते 4 विकेट पर 187 रन बनाकर मैच जीत लिया। ऑस्ट्रेलिया के लिए डेनियल सैम्स ने सबसे ज्यादा 2 विकेट झटके।

Anzarul Bari
Anzarul Bari
पिछले 23 सालों से डेडीकेटेड पत्रकार अंज़रुल बारी की पहचान प्रिंट, टीवी और डिजिटल मीडिया में एक खास चेहरे के तौर पर रही है. अंज़रुल बारी को देश के एक बेहतरीन और सुलझे एंकर, प्रोड्यूसर और रिपोर्टर के तौर पर जाना जाता है. इन्हें लंबे समय तक संसदीय कार्रवाइयों की रिपोर्टिंग का लंबा अनुभव है. कई भाषाओं के माहिर अंज़रुल बारी टीवी पत्रकारिता से पहले ऑल इंडिया रेडियो, अलग अलग अखबारों और मैग्ज़ीन से जुड़े रहे हैं. इन्हें अपने 23 साला पत्रकारिता के दौर में विदेशी न्यूज़ एजेंसियों के लिए भी काम करने का अच्छा अनुभव है. देश के पहले प्राइवेट न्यूज़ चैनल जैन टीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर शो 'मुसलमान कल आज और कल' को इन्होंने बुलंदियों तक पहुंचाया, टीवी पत्रकारिता के दौर में इन्होंने देश की डिप्राइव्ड समाज को आगे लाने के लिए 'किसान की आवाज़', वॉइस ऑफ क्रिश्चियनिटी' और 'दलित आवाज़', जैसे चर्चित शोज़ को प्रोड्यूस कराया है. ईटीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर राजनीतिक शो 'सेंट्रल हॉल' के भी प्रोड्यूस रह चुके अंज़रुल बारी की कई स्टोरीज़ ने अपनी अलग छाप छोड़ी है. राजनीतिक हल्के में अच्छी पकड़ रखने वाले अंज़र सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक और अंतरराष्ट्रीय खबरों पर अच्छी पकड़ रखते हैं साथ ही अपने बेबाक कलम और जबान से सदा बहस का मौज़ू रहे है. डी.डी उर्दू चैनल के शुरू होने के बाद फिल्मी हस्तियों के इंटरव्यूज़ पर आधारित स्पेशल शो 'फिल्म की ज़बान उर्दू की तरह' से उन्होंने खूब नाम कमाया. सामाजिक हल्के में अपनी एक अलग पहचान रखने वाले अंज़रुल बारी 'इंडो मिडिल ईस्ट कल्चरल फ़ोरम' नामी मशहूर संस्था के संस्थापक महासचिव भी हैं.
RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments