Sunday, February 25, 2024
होमताज़ातरीनझारखंड में हेमंत सरकार अलर्ट, सीएम हेमंत से ईडी की होगी पूछताछ 

झारखंड में हेमंत सरकार अलर्ट, सीएम हेमंत से ईडी की होगी पूछताछ 

झारखंड में एक बार फिर से राजनीति बदलती दिख रही है. 17 तारीख को सीएम हेमंत सोरेन से ईडी की पूछताछ होनी है. जिसको लेकर सत्ता पक्ष अलर्ट हो गया है. सत्ता पक्ष ने यूपीए के सभी विधायकों को राजधानी रांची के पास ही रहने को कहा है. विधायकों से कहा गया है कि वो राज्य से बाहर न जायें और सूचना पर तुरंत राजधानी पहुंचे. इधर, कांग्रेस के मंत्री आलमगीर आलम, बन्ना गुप्ता, प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर, विधायक प्रदीप यादव, दीपिका पांडेय, अनूप सिंह सहित कई विधायकों व नेताओं को महाराष्ट्र के औरंगाबाद जाना था. कांग्रेस नेताओं ने भी अपना दौरा रद्द कर दिया है.

इधर, झामुमो के सभी विधायक राजधानी में जुट गये हैं. मंगलवार देर शाम झामुमो विधायकों की सीएम के साथ बैठक हुई. इसमें भावी कार्य योजना पर चर्चा हुई. झामुमो विधायकों ने स्थापना दिवस कार्यक्रम में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के कार्यक्रम को रद्द किये जाने और राज्यपाल रमेश बैस की समारोह से अनुपस्थिति पर भी चर्चा की. बुधवार को यूपीए विधायकों की बैठक बुलायी गयी है.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडेय से वर्तमान परिस्थिति पर चर्चा की. प्रभारी से आग्रह किया कि वो राज्य में राजनीतिक परिस्थितियों को देखते हुए मंत्रियों वो विधायकों के राज्य से बाहर के कार्यक्रम को कुछ दिनों के लिए स्थगित करें. मुख्यमंत्री हेमंत ने विधायक दल के नेता आलमगीर आलम से भी बात की है. आलम के साथ रणनीति पर चर्चा हुई. बीजेपी के खिलाफ सड़क पर आंदोलन की रणनीति बनी.

उधर, कांग्रेस भवन में कांग्रेस विधायकों की बैठक हुई. प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर, मंत्री आलमगीर आलम के साथ विधायकों की मंत्रणा हुई. विधायकों व नेताओं को भारत जोड़ो यात्रा में जाना था. बदली परिस्थिति के बीच यात्रा रद्द होने के बाद विधायकों ने बैठक की. बैठक में मंत्री बन्ना गुप्ता, प्रदीप यादव, दीपिका पांडेय, शिल्पी नेहा तिर्की सहित कई लोग शामिल थे. देर शाम को विधायक आलमगीर आलम के आवास पर भी बैठक हुई.

झामुमो नेता स्टीफन मरांडी ने कहा है कि वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए भारत जोड़ो यात्रा के लिए बाहर जाने का कार्यक्रम रद्द किया गया है. बीजेपी साजिश में लगी है. बुधवार को यूपीए विधायक दल की बैठक में आगे की रणनीति बनेगी.

Anzarul Bari
Anzarul Bari
पिछले 23 सालों से डेडीकेटेड पत्रकार अंज़रुल बारी की पहचान प्रिंट, टीवी और डिजिटल मीडिया में एक खास चेहरे के तौर पर रही है. अंज़रुल बारी को देश के एक बेहतरीन और सुलझे एंकर, प्रोड्यूसर और रिपोर्टर के तौर पर जाना जाता है. इन्हें लंबे समय तक संसदीय कार्रवाइयों की रिपोर्टिंग का लंबा अनुभव है. कई भाषाओं के माहिर अंज़रुल बारी टीवी पत्रकारिता से पहले ऑल इंडिया रेडियो, अलग अलग अखबारों और मैग्ज़ीन से जुड़े रहे हैं. इन्हें अपने 23 साला पत्रकारिता के दौर में विदेशी न्यूज़ एजेंसियों के लिए भी काम करने का अच्छा अनुभव है. देश के पहले प्राइवेट न्यूज़ चैनल जैन टीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर शो 'मुसलमान कल आज और कल' को इन्होंने बुलंदियों तक पहुंचाया, टीवी पत्रकारिता के दौर में इन्होंने देश की डिप्राइव्ड समाज को आगे लाने के लिए 'किसान की आवाज़', वॉइस ऑफ क्रिश्चियनिटी' और 'दलित आवाज़', जैसे चर्चित शोज़ को प्रोड्यूस कराया है. ईटीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर राजनीतिक शो 'सेंट्रल हॉल' के भी प्रोड्यूस रह चुके अंज़रुल बारी की कई स्टोरीज़ ने अपनी अलग छाप छोड़ी है. राजनीतिक हल्के में अच्छी पकड़ रखने वाले अंज़र सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक और अंतरराष्ट्रीय खबरों पर अच्छी पकड़ रखते हैं साथ ही अपने बेबाक कलम और जबान से सदा बहस का मौज़ू रहे है. डी.डी उर्दू चैनल के शुरू होने के बाद फिल्मी हस्तियों के इंटरव्यूज़ पर आधारित स्पेशल शो 'फिल्म की ज़बान उर्दू की तरह' से उन्होंने खूब नाम कमाया. सामाजिक हल्के में अपनी एक अलग पहचान रखने वाले अंज़रुल बारी 'इंडो मिडिल ईस्ट कल्चरल फ़ोरम' नामी मशहूर संस्था के संस्थापक महासचिव भी हैं.
RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments