Sunday, February 25, 2024
होमताज़ातरीनकेंद्र का बड़ा फ़ैसला, कई राज्यों के बदले गवर्नर, कोश्यारी की छुट्टी,...

केंद्र का बड़ा फ़ैसला, कई राज्यों के बदले गवर्नर, कोश्यारी की छुट्टी, पूर्व जज नज़ीर हुए आंध्रप्रदेश के राज्यपाल 

केंद्र सरकार ने रविवार को बड़ा फेरबदल करते हुए देश के 13 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश में बड़ा फेरबदल करते हुए राज्यपालों को बदल दिया है.

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी की जगह झारखंड के राज्यपाल रमेश बैस को वहां का राज्यपाल बनाया गया है. जिसके बाद राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने इस्तीफ़ा दे दिया. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने कोशियारी का इस्तीफ़ा भी मंज़ूर कर लिया है. दरअसल कोश्यारी ने हाल ही में अपने पद से अपने पद से इस्तीफा देने की बात कही थी. इसके लिए उन्होंने पत्र लिख कर पद से मुक्त किए जाने की मांग की थी.

 

हालांकि इस बड़े फेरबदल में सबसे चौंकाने वाला नाम सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस अब्दुल नज़ीर का है, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने जस्टिस एस अब्दुल नजीर को आंध्र प्रदेश के राज्यपाल के तौर पर नियुक्त किया गया है. बता दें कि जस्टिस एस अब्दुल नजीर अयोध्या केस में फैसला सुनाने वाली बेंच का हिस्सा रह चुके हैं. जस्टिस नज़ीर 4 जनवरी को ही सुप्रीम कोर्ट से रिटायर्ड हुए हैं.

 

इस बीच तमिलनाडु से बीजेपी के पूर्व सांसद सीपी राधा कृष्णन को रमेश बैस की जगह झारखंड का राज्यपाल नियुक्त किया गया है.

बताया जा रहा है कि लद्दाख के उपराज्यपाल राधा कृष्ण माथुर ने भी इस्तीफ़ा दिया है. राष्ट्रपति मुर्मू ने उनका भी इस्तीफ़ा मंज़ूर कर लिया है. उनकी जगह अरुणाचल प्रदेश के राज्यपाल ब्रिगेडियर (डॉ) बीडी मिश्रा को लद्दाख के उपराज्यपाल के रूप में ज़िम्मेदारी दी गई है.

 

इस बीच मोदी सरकार के पिछले सरकार में वित्त राज्यमंत्री रहे शिव प्रताप शुक्ला अब हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल होंगे. जबकि राजस्थान से बीजेपी के नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया को असम का पदभार सौंप दिया है.

 

राष्ट्रपति ने लेफ्टिनेंट जनरल कैवल्य त्रिविक्रम परनाइक को अरुणाचल प्रदेश का राज्यपाल, छत्तीसगढ़ की राज्यपाल अनुसुईया उइके को मणिपुर, मणिपुर के राज्यपाल एल. गणेशन को नगालैंड, बिहार के राज्यपाल फागू चौहान को मेघालय, हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर को बिहार, झारखंड के राज्यपाल रमेश बैस को महाराष्ट्र का राज्यपाल नियुक्त किया गया है.

 

राज्यपालों के राज्यों में बदलाव:-

नाम नया राज्य पुराना राज्य

1. रमेश बैस – महाराष्ट्र – झारखंड

2. राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर – बिहार – हिमाचल प्रदेश

3. विश्व भूषण हरिचंदन – छत्तीसगढ़ – आंध प्रदेश

4. सुश्री अनुसइया उइकिए – मणिपुर – छत्तीसगढ़

5. ला गणेशन – नगालैंड – मणिपुर

6. फागू चौहान – मेघालय – बिहार

7. ब्रिगेडियर (डॉ) बीडी मिश्रा – लद्दाख (UT) – अरुणाचल प्रदेश

II. नए बनाए गए राज्यपाल

1. सीपी राधा कृष्ण – झारखंड

2. जस्टिस (रिटायर्ड) एस अब्दुल नज़ीर- आंध्र प्रदेश

3. गुलाब चंद कटारिया- असम

4. शिव प्रताप शुक्ल – हिमाचल प्रदेश

5. लक्ष्मण प्रसाद आचार्य – सिक्किम

6. ले. जन (रिटायर्ड) केटी परनाइक – अरुणाचल प्रदेश

Anzarul Bari
Anzarul Bari
पिछले 23 सालों से डेडीकेटेड पत्रकार अंज़रुल बारी की पहचान प्रिंट, टीवी और डिजिटल मीडिया में एक खास चेहरे के तौर पर रही है. अंज़रुल बारी को देश के एक बेहतरीन और सुलझे एंकर, प्रोड्यूसर और रिपोर्टर के तौर पर जाना जाता है. इन्हें लंबे समय तक संसदीय कार्रवाइयों की रिपोर्टिंग का लंबा अनुभव है. कई भाषाओं के माहिर अंज़रुल बारी टीवी पत्रकारिता से पहले ऑल इंडिया रेडियो, अलग अलग अखबारों और मैग्ज़ीन से जुड़े रहे हैं. इन्हें अपने 23 साला पत्रकारिता के दौर में विदेशी न्यूज़ एजेंसियों के लिए भी काम करने का अच्छा अनुभव है. देश के पहले प्राइवेट न्यूज़ चैनल जैन टीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर शो 'मुसलमान कल आज और कल' को इन्होंने बुलंदियों तक पहुंचाया, टीवी पत्रकारिता के दौर में इन्होंने देश की डिप्राइव्ड समाज को आगे लाने के लिए 'किसान की आवाज़', वॉइस ऑफ क्रिश्चियनिटी' और 'दलित आवाज़', जैसे चर्चित शोज़ को प्रोड्यूस कराया है. ईटीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर राजनीतिक शो 'सेंट्रल हॉल' के भी प्रोड्यूस रह चुके अंज़रुल बारी की कई स्टोरीज़ ने अपनी अलग छाप छोड़ी है. राजनीतिक हल्के में अच्छी पकड़ रखने वाले अंज़र सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक और अंतरराष्ट्रीय खबरों पर अच्छी पकड़ रखते हैं साथ ही अपने बेबाक कलम और जबान से सदा बहस का मौज़ू रहे है. डी.डी उर्दू चैनल के शुरू होने के बाद फिल्मी हस्तियों के इंटरव्यूज़ पर आधारित स्पेशल शो 'फिल्म की ज़बान उर्दू की तरह' से उन्होंने खूब नाम कमाया. सामाजिक हल्के में अपनी एक अलग पहचान रखने वाले अंज़रुल बारी 'इंडो मिडिल ईस्ट कल्चरल फ़ोरम' नामी मशहूर संस्था के संस्थापक महासचिव भी हैं.
RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments