Sunday, February 25, 2024
होमताज़ातरीनकांग्रेस में बदलाव शुरू : खड़गे ने बनाई 47 लोगों की पार्टी...

कांग्रेस में बदलाव शुरू : खड़गे ने बनाई 47 लोगों की पार्टी संचालन समिति

कांग्रेस के नये राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने बुधवार को अपना पदभार संभालने के बाद कांग्रेस पार्टी में बदलाव की शुरुआत कर दी है. खड़गे ने सबसे पहले एक संचालन समिति का गठन कर दिया है. वर्तमान में यह समिति कांग्रेस वर्किंग कमेटी की जगह गठित की गई है. इस समिति में पार्टी पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत 47 नेताओं को जगह दी गई है. पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल ने मीडिया को जारी पत्र में बताया कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के संविधान की धारा 15(बी) के तहत पार्टी अध्यक्ष ने इसका गठन किया है.

खड़गे की अध्यक्षता में अंतरिम पैनल तब तक के लिए कांग्रेस कार्य समिति की जगह लेगा जब तक कि पार्टी के पूर्ण सत्र में खड़गे के निर्वाचन की पुष्टि किए जाने के बाद नई सीडब्ल्यूसी नहीं बन जाती है. विवेक बंसल को छोड़कर पिछली सीडब्ल्यूसी के सभी सदस्यों और स्थायी आमंत्रित सदस्यों को समिति में बरकरार रखा गया है. पूर्व विधायक बंसल, जो पिछली सीडब्ल्यूसी में स्थायी रूप से आमंत्रित सदस्य थे, अब पार्टी के हरियाणा मामलों के प्रभारी हैं.

इस कमेटी में अन्य नेताओं में एके एंटनी, अभिषेक मनु सिंघवी, अजय माकन, अंबिका सोनी, आनंद शर्मा, अविनाश पांडेय, गायखंबम, हरीश रावत, जयराम रमेश, जितेंद्र सिंह, कुमारी शैलजा, केसी वेणुगोपाल, ललथनहवला, मुकुल वासनिक, ओमन चांडी, प्रियंका गांधी वाड्रा, पी. चिदंबरम, रणदीप सिंह सुरजेवाला, रघुबीर मीना, तारिक अनवर, डॉ. ए. चेल्ला कुमार, डॉ. अजय कुमार, अधीर रंजन चौधरी, भक्त चरण दास, देवेंद्र यादव, दिग्विजय सिंह आदि शामिल हैं. सोनिया गांधी के नेतृत्व में पिछली सीडब्ल्यूसी में विशेष आमंत्रित सदस्य रहे किसी भी व्यक्ति को खड़गे द्वारा बनाई गई नई संचालन समिति में जगह नहीं मिली है. खड़गे के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले शशि थरूर समिति के सदस्यों में नहीं हैं.

नई समिति में शामिल नहीं किए गए सीडब्ल्यूसी के विशेष आमंत्रित सदस्यों में अजय कुमार लल्लू, चिंता मोहन, दीपेंद्र सिंह हुड्डा, सचिन राव के अलावा सेवा दल के मुख्य आयोजक लालजी देसाई, आई वाई सी प्रमुख श्रीनिवास बीवी, एनएसयूआई प्रमुख नीरज कुंदन, महिला कांग्रेस प्रमुख नेट्टा डिसूजा हैं और इंटक अध्यक्ष जी संजीव रेड्डी शामिल हैं. असंतुष्ट समूह जी -23 के एक प्रमुख नेता आनंद शर्मा को इस समीति बरकरार रखा गया है.

Anzarul Bari
Anzarul Bari
पिछले 23 सालों से डेडीकेटेड पत्रकार अंज़रुल बारी की पहचान प्रिंट, टीवी और डिजिटल मीडिया में एक खास चेहरे के तौर पर रही है. अंज़रुल बारी को देश के एक बेहतरीन और सुलझे एंकर, प्रोड्यूसर और रिपोर्टर के तौर पर जाना जाता है. इन्हें लंबे समय तक संसदीय कार्रवाइयों की रिपोर्टिंग का लंबा अनुभव है. कई भाषाओं के माहिर अंज़रुल बारी टीवी पत्रकारिता से पहले ऑल इंडिया रेडियो, अलग अलग अखबारों और मैग्ज़ीन से जुड़े रहे हैं. इन्हें अपने 23 साला पत्रकारिता के दौर में विदेशी न्यूज़ एजेंसियों के लिए भी काम करने का अच्छा अनुभव है. देश के पहले प्राइवेट न्यूज़ चैनल जैन टीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर शो 'मुसलमान कल आज और कल' को इन्होंने बुलंदियों तक पहुंचाया, टीवी पत्रकारिता के दौर में इन्होंने देश की डिप्राइव्ड समाज को आगे लाने के लिए 'किसान की आवाज़', वॉइस ऑफ क्रिश्चियनिटी' और 'दलित आवाज़', जैसे चर्चित शोज़ को प्रोड्यूस कराया है. ईटीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर राजनीतिक शो 'सेंट्रल हॉल' के भी प्रोड्यूस रह चुके अंज़रुल बारी की कई स्टोरीज़ ने अपनी अलग छाप छोड़ी है. राजनीतिक हल्के में अच्छी पकड़ रखने वाले अंज़र सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक और अंतरराष्ट्रीय खबरों पर अच्छी पकड़ रखते हैं साथ ही अपने बेबाक कलम और जबान से सदा बहस का मौज़ू रहे है. डी.डी उर्दू चैनल के शुरू होने के बाद फिल्मी हस्तियों के इंटरव्यूज़ पर आधारित स्पेशल शो 'फिल्म की ज़बान उर्दू की तरह' से उन्होंने खूब नाम कमाया. सामाजिक हल्के में अपनी एक अलग पहचान रखने वाले अंज़रुल बारी 'इंडो मिडिल ईस्ट कल्चरल फ़ोरम' नामी मशहूर संस्था के संस्थापक महासचिव भी हैं.
RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments