Sunday, February 25, 2024
होमताज़ातरीनकांग्रेस ने शुरू की आज से "भारत जोड़ो यात्रा." पार्टी अध्यक्ष सोनिया...

कांग्रेस ने शुरू की आज से “भारत जोड़ो यात्रा.” पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने यात्रा को बताया ऐतिहासिक पल

 

कांग्रेस नेता राहुल गांधी “भारत जोड़ो यात्रा” अभियान की शुरुआत के लिए तमिलनाडु के श्रीपेरंबदुर पहुंचे. यहां उन्होंने अपने पिता और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को श्रद्धांजलि दी. यहां सुबह उन्होंने प्रार्थना सभा में हिस्सा लिया. यहां से राहुल गांधी कन्याकुमारी पहुंचे. यात्रा के शुभारंभ से पहले राहुल गांधी कन्याकुमारी में विवेकानंद रॉक मेमोरियल, तिरुवल्लुवर स्टैच्यू और कामराज मेमोरियल भी गए .राहुल गांधी ने “भारत जोड़ो यात्रा” के दौरान कहा कि RSS और BJP आज संस्थानों पर हमला कर रहे है.

राहुल ने कहा, “ये झंडा सिर्फ़ तीन रंग, एक चक्र और कपड़े का टुकड़ा नहीं है. ये झंडा हमें आसानी से नहीं मिला, इसे हमें तोहफ़े की तरह नहीं दिया गया था. इसे भारतीय लोगों ने कमाया है. ये देश के हर व्यक्ति की पहचान है. ये झंडा देश में रहने वाले हर व्यक्ति के धर्म, भाषा और सभी राज्यों की पहचान हैं.” “आज भारत अपने सबसे बुरे आर्थिक संकट का सामना कर रहा है. मुट्ठी भर बड़े बिज़नेसमैन आज पूरे देश को नियंत्रित कर रहे हैं. पहले ईस्ट इंडिया कंपनी थी जो भारत को नियंत्रित करती थी और आज 3-4 बड़ी कंपनियां हैं जो पूरे भारत को नियंत्रित करती हैं.”

इस मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का संदेश भी पढ़ा गया. सोनिया ने इस यात्रा को महत्वपूर्ण पल बताया और उम्मीद जताई की पार्टी को नई ऊर्जा देगा. सोनिया ने कहा, “मैं अपने मेडिकल चेकअप के कारण कन्याकुमारी से कश्मीर तक की इस यात्रा के शुरू होने के ऐतिहासिक मौके पर वहां मौजूद नहीं हूं, इसका मुझे अफ़सोस है.” “इस तरह की शानदार विरासत वाली हमारी महान पार्टी, कांग्रेस के लिए यह एक ऐतिहासिक अवसर है. मुझे विश्वास है कि हमारे संगठन का कायाकल्प होगा.” उन्होंने इस मौके को “भारतीय राजनीति में बड़ा बदलाव लाने वाला” भी बताया.

बता दें कि राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी ने लोगों को जोड़ने के लिए “भारत जोड़ो यात्रा” शुरू की है. “भारत जोड़ो यात्रा” में हर दिन 25 किलोमीटर की पदयात्रा होगी और 150 दिन में 3570 किलोमीटर का सफर तय करके कन्याकुमारी से कश्मीर पहुंचा जाएगा. प्रेम और भाईचारे को फैलाने के मकसद से कांग्रेस ने इस यात्रा का नाम “भारत जोड़ो यात्रा” रखा गया है. कांग्रेस पार्टी इस मार्च की मदद से देश भर में महंगाई, बेरोजगारी और भ्रष्टाचार जैसे अहम मुद्दों पर जनता को एकजुट करना चाहती हैं.

कांग्रेस की इस यात्रा को 2024 के लोकसभा चुनाव की तैयारी के तौर पर देखा जा रहा है. राहुल गांधी ने कन्याकुमारी से “भारत जोड़ो यात्रा” को हरी झंडी दिखाकर शुरू की है.

कांग्रेस की इस यात्रा में तीन तरह के लोग शामिल हैं. पहले हैं भारत यात्री. भारत यात्री पदयात्रा में राहुल गांधी के साथ 100 यात्री ऐसे होंगे, जो शुरू से लेकर आखिर तक उनके साथ चलेंगे. उन्हें भारत यात्री कहा जाएगा. फिर हैं प्रदेश यात्री. जिन प्रदेशों से यह यात्रा निकलकर गुजरेगी, वहां से 100-100 लोग इसमें शामिल होंगे. जिन्हें प्रदेश यात्री कहा जाएगा. और तीसरे हैं अतिथि यात्री. वह प्रदेश जहां से यह यात्रा नहीं गुजर रही है, वहां से भी 100-100 लोग इसमें शामिल हो सकते हैं. यह लोग अतिथि यात्री कहलाएंगे.

यह यात्रा तिरंगा के बैनर पर हो रही है. इस यात्रा में कांग्रेस के साथ ही देश भर के डेढ़ सौ से ज्यादा संगठन भी शामिल हैं.

Anzarul Bari
Anzarul Bari
पिछले 23 सालों से डेडीकेटेड पत्रकार अंज़रुल बारी की पहचान प्रिंट, टीवी और डिजिटल मीडिया में एक खास चेहरे के तौर पर रही है. अंज़रुल बारी को देश के एक बेहतरीन और सुलझे एंकर, प्रोड्यूसर और रिपोर्टर के तौर पर जाना जाता है. इन्हें लंबे समय तक संसदीय कार्रवाइयों की रिपोर्टिंग का लंबा अनुभव है. कई भाषाओं के माहिर अंज़रुल बारी टीवी पत्रकारिता से पहले ऑल इंडिया रेडियो, अलग अलग अखबारों और मैग्ज़ीन से जुड़े रहे हैं. इन्हें अपने 23 साला पत्रकारिता के दौर में विदेशी न्यूज़ एजेंसियों के लिए भी काम करने का अच्छा अनुभव है. देश के पहले प्राइवेट न्यूज़ चैनल जैन टीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर शो 'मुसलमान कल आज और कल' को इन्होंने बुलंदियों तक पहुंचाया, टीवी पत्रकारिता के दौर में इन्होंने देश की डिप्राइव्ड समाज को आगे लाने के लिए 'किसान की आवाज़', वॉइस ऑफ क्रिश्चियनिटी' और 'दलित आवाज़', जैसे चर्चित शोज़ को प्रोड्यूस कराया है. ईटीवी पर प्रसारित होने वाले मशहूर राजनीतिक शो 'सेंट्रल हॉल' के भी प्रोड्यूस रह चुके अंज़रुल बारी की कई स्टोरीज़ ने अपनी अलग छाप छोड़ी है. राजनीतिक हल्के में अच्छी पकड़ रखने वाले अंज़र सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक और अंतरराष्ट्रीय खबरों पर अच्छी पकड़ रखते हैं साथ ही अपने बेबाक कलम और जबान से सदा बहस का मौज़ू रहे है. डी.डी उर्दू चैनल के शुरू होने के बाद फिल्मी हस्तियों के इंटरव्यूज़ पर आधारित स्पेशल शो 'फिल्म की ज़बान उर्दू की तरह' से उन्होंने खूब नाम कमाया. सामाजिक हल्के में अपनी एक अलग पहचान रखने वाले अंज़रुल बारी 'इंडो मिडिल ईस्ट कल्चरल फ़ोरम' नामी मशहूर संस्था के संस्थापक महासचिव भी हैं.
RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments